सऊदी अरब के प्रतिष्ठित पत्रकार और क्राउन प्रिंस के आलोचक जमाल खाशोगी की हत्या: रिपोर्ट

इस्तांबुल । तुर्की के जांच अधिकारियों का मानना है कि अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट में काम करने वाले सऊदी अरब के एक प्रतिष्ठित पत्रकार जमाल खाशोगी की हत्या की गई है। वॉशिंगटन पोस्ट का दावा है कि इस्तांबुल में सऊदी के वाणिज्य दूतावास में पूर्व नियोजित तरीके से हत्या की गई। अखबार ने दो गुमनाम अधिकारियों के हवाले से यह खबर दी है।
सऊदी अरब के अधिकारियों ने अभी इस पर टिप्पणी नहीं की है। हालांकि, उन्होंने कहा कि लेखक ने उनका राजनयिक पद छोड़ दिया था। तुर्की के एक अधिकारी ने भी बताया कि जांचकर्ताओं का प्राथमिक आकलन भी यही है कि जमाल खाशोगी की वाणिज्य दूतावास में हत्या की गई। पिछले साल से अमेरिका में आत्म निर्वासन में रह रहे खाशोगी तुर्की में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास जाने के बाद मंगलवार को लापता हो गए थे। जमाल सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के कटु आलोचक रहे हैं।
अखबार के संपादकीय पृष्ठ के संपादक फ्रेड हियात ने एक बयान में कहा, ‘अगर जमाल की हत्या की खबरें सही हैं तो यह सरासर गलत कृत्य है। जमाल प्रतिबद्ध और बहादुर पत्रकार थे। वह अपने देश के लिए प्रेम की भावना से ऊपर उठकर और मानव गरिमा एवं आजादी में गहरे विश्वास के साथ लिखते थे।’ वॉशिंगटन पोस्ट ने एक अज्ञात अधिकारी के हवाले से बताया कि जांचकर्ताओं का मानना है कि ‘सऊदी अरब से 15 सदस्यीय दल आया था।यह पूर्वनियोजित हत्या है।’
तुर्की के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि उनकी जांच में भी शनिवार रात को ऐसी ही बात सामने आई। अधिकारी ने कहा, ‘तुर्की पुलिस की प्रारंभिक जांच में कहा गया है कि खाशोगी की इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में हत्या कर दी गई। हमारा मानना है कि हत्या पहले से नियोजित थी और उसके बाद शव को वाणिज्य दूतावास से बाहर ले जाया गया।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.